Tuesday, 27 December 2011

नये वर्ष पर कुछ नया गीत हो....!!!


                       नये वर्ष पर कुछ नया गीत हों ..                        

नये वर्ष पर कुछ नया गीत हों 
नये गीत में कुछ नये बोल हो
नयी थाप गूंजे,जो अनमोल हो
मिलन बासुंरी में नयी धुन छिड़े,
नहीं अब विरह की कोई रीत हो
नये वर्ष पर कुछ......

नये छंद हों,कुछ नये रस बहे,
नये अर्थ कुछ,सर्ग-प्रत्यय नये 
नये रूपलंकार पर शोध हो
नये हर क़दम पर नयी जीत हो.
नये वर्ष पर कुछ .....

विगत वर्ष कुछ लिख गया,रह गया,
कोई बिन कहे कुछ,बहोत कह गया 
कोई पर्ण फिर टूट कर जुड़ गया
कोई बीच 'सागर' पृथक पड़ गया 
गयी बात छोड़ो,बढ़ो हाथ दो
चलो झूमकर नाच लें मीत हो
नये वर्ष पर कुछ......
आप सभी को नव वर्ष की हार्दिक शुभकानायें... 

41 comments:

  1. आप को नव वर्ष की हार्दिक शुभकानायें .

    ReplyDelete
  2. बहुत सुन्दर !
    नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनायें !

    ReplyDelete
  3. नए वर्ष की शुभेक्षाएं

    ReplyDelete
  4. वाह ! नए वर्ष की शुभकामनायें!

    ReplyDelete
  5. नव वर्ष की शुभकामनायें ..सुन्दर गीत

    ReplyDelete
  6. आपको भी नववर्ष की शुभकामनाएं ...बढ़िया गीत

    ReplyDelete
  7. sunadr rachana...
    happy new year to you and your family...
    god bless you....

    ReplyDelete
  8. अच्छा है भाई! हैप्पी न्यू इअर इन एडवांस!

    ReplyDelete
  9. सुंदर रचना।

    नए साल की शुभकामनाएं.....

    ReplyDelete
  10. आने वाले वर्ष की शुभकामनाएँ।


    सादर

    ReplyDelete
  11. नव वर्ष पर सुन्दर गीत ...
    आपको नया साल बहुत बहुत मुबारक हो ...

    ReplyDelete
  12. नये छंद हों,कुछ नये रस बहे,
    नये अर्थ कुछ,सर्ग-प्रत्यय नये
    नये रूपलंकार पर शोध हो
    नये हर क़दम पर नयी जीत हो.
    नये वर्ष पर कुछ नए गीत हो...

    बढ़िया गीत...
    नव वर्ष की सादर बधाइयां.

    ReplyDelete
  13. बहुत सुंदर प्रस्तुती बेहतरीन रचना,.....
    नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाए..

    नई पोस्ट --"काव्यान्जलि"--"नये साल की खुशी मनाएं"--click करे...

    ReplyDelete
  14. बहुत सुंदर भाव और अभिव्यक्ति | नूतन वर्ष बहुत ही काव्यमयी हो यही दुआ है !

    ReplyDelete
  15. नये छंद हों,कुछ नये रस बहे,
    नये अर्थ कुछ,सर्ग-प्रत्यय नये
    :) :) Subhkamana...:)

    ReplyDelete
  16. नववर्ष 2012 की हार्दिक शुभकामनाए..

    --"नये साल की खुशी मनाएं"--

    ReplyDelete
  17. nav varsh pr apko hardik badhai Sagar ji eske sath hi apki rachana behad pyari hai es srijan ke liye badhai tatha abhar .

    ReplyDelete
  18. नये वर्ष की सुखद कल्पना,साथ आपको शुभकामना।

    ReplyDelete
  19. बहुत सुन्दर प्रस्तुति...आप को सपरिवार नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनायें !

    ReplyDelete
  20. बहुत सुन्दर प्रस्तुति|
    आपको और परिवारजनों को नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएँ|

    ReplyDelete
  21. सुन्दर प्रस्तुति.
    नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाए

    ReplyDelete
  22. बहुत सुन्दर प्रस्तुति...
    आप को सपरिवार नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनायें !

    ReplyDelete
  23. .नव वर्ष की हार्दिक शुभकानायें

    ReplyDelete
  24. नव वर्ष के स्वागत में सागर ने मोती छलकाये.....वाह !!!

    ReplyDelete
  25. सागर के मन के शब्द
    मोतियों से भी कीमती हैं...
    सब सहेजने लाइक .

    नव वर्ष अभिवादन .

    ReplyDelete
  26. क्या बात है ! नववर्ष के लिए आपको शुभकामनाएं.

    ReplyDelete
  27. namaskar sagar ji .....bahut hi sunder geet ukera hai aapne ....badhai . sunder shabdo ki shabdawali ....nav varsh ki shubhkamnaye.

    aapki samiksha anmol hai ...aap apna anmol samaye hamare blog ko dete hai . swagat hai aapka .
    haapy new year .

    ReplyDelete
  28. नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं ||

    ReplyDelete
  29. बहुत बढिया प्रस्तुति, सुंदर अभिव्यक्ति ......
    संजय जी,आपके हर पोस्ट पर गया,किन्तु आप मेरे लगातार चार पोस्ट पर नही पहुचे,अगर मेरा आना पसंद नही,तो सीधे मना कर सकते है आखिर ये ब्लॉग जगत का शिष्टाचार ही तो है,
    WELCOME to--जिन्दगीं--

    ReplyDelete
  30. नये छंद हों,कुछ नये रस बहे,
    नये अर्थ कुछ,सर्ग-प्रत्यय नये
    नये रूपलंकार पर शोध हो
    नये हर क़दम पर नयी जीत हो.
    नये वर्ष पर कुछ .....
    bahut sundar....

    ReplyDelete
  31. bahut hi sunder kamna. kash aisa hi ho. sunder prastuti.

    ReplyDelete
  32. कोई बीच 'सागर' पृथक पड़ गया
    waah!

    wishing you a wonderful and creative new year!

    ReplyDelete
  33. बहुत बढिया प्रस्तुति, सुंदर अभिव्यक्ति ......नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं ||

    ReplyDelete
  34. बहुत सार्थक प्रस्तुति, सुंदर रचना,
    new post...वाह रे मंहगाई...

    ReplyDelete
  35. beautiful.. naye varsh ki magala kaamnayein...

    ReplyDelete